कंप्यूटर वायरस क्या है और इससे कैसे बचे

                                                       कंप्यूटर वायरस क्या है

दोस्तों कंप्यूटर वायरस ये नाम इंटेरेट की दुनिया में काफी प्रशिद नाम है और साथ ही काफी डरवाना भी, अगर आपने इसके बारे में सुना होगा तो आप इसके बारे में ये तो जानते ही होंगे की ये हमारे लिए कितना हानिकारक है  तो आज के इस लेख में हम आपको यही बताने वाले है की 
  • कंप्यूटर वायरस क्या है ? | what is computer virus ? 
  • कंप्यूटर वायरस के नाम | Names of computer virus 
  • कंप्यूटर वायरस के प्रकार | Types of computer virus 
  •  वायरस को कंप्यूटर  से कैसे हटाए ? | How to remove computer viruses  ?

computer-virus


                                                 computer virus  क्या है

                                  
computer virus एक  प्रोग्राम है जिसे एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर में फ़ैलाने ने लिए बनाया जाता है और ये अपने आप को फाइल्स के जरिये दोहरा कर कई गुना बना लेता है |

 इसे कंप्यूटर के संचालित करने के तरीको को बदलने के लिए बनाया जाता है | ये खुद को हमारे कंप्यूटर में पड़े फाइलस के जरिये कॉपी करता रहता है और अपने आप को कई फाइलों में  फैला लेता है | 

ये हमारे कंप्यूटर में पड़े डाटा को नष्ट करके हमारे system software को  नुकसान पहुँचता है | 

                                                           कंप्यूटर वायरस के नाम  


1. Blaster worm 

Blaster worm ये एक कंप्यूटर वायरस है जो अगस्त 2003 के दौरान operating system विंडोज 2000 और windows एक्सपी में फैला था |  इस virus को Minnesota के Hopkins के एक 18 वर्षीय Jeffery Lee Parson नामक एक व्यक्ति ने बनाई था इस वायरस को बनाने के लिए उसे 18 वर्ष की सजा भी हुई थी | ये वायरस आपके कंप्यूटर में किसी मेल या मैसेज के साथ आ सकता है इसमें एक लिंक होता है जिसे खोलते ही आपके कंप्यूटर में खुद ही Downloading सुरु हो जाती है जिसके साथ और भी virus download होते रहते है |  


2. I Love you virus 
I Love You virus भी एक खतरनाक वायरस था  जो की आपको एक mail के द्वारा भेजा जाता था और इसकी  विषय पंक्ति ( subject line ) में  I Love You लिखा होता था और इसमें एक फाइल संग्लन(Attached ) होता था जिसमे love letter for you लिखा होता था  |

 इस संदेश को खोलने पर प्राप्तकर्ता के  कंप्यूटर में वायरस डाउनलोड हो जाता है और फिर पुरे कंप्यूटर को crash कर देता था और वो कंप्यूटर अगर इसी server से जुडी होती थी तो वो server भी crash हो जाता था |

 ये virus सन 2000 में आया था | ये वायरस कंप्यूटर में डाउनलोड होते ही microsoft outlook के address book में सब को sent हो जाता था जिससे की 4 मई 2000 को ये virus इतना ज्यादा फ़ैल गया की इसे Ford motor compny जैसे कई कम्पनियो को  E-mail  बंद करना पड़ा था | 

 ये वायरस एक ही दिन में लगभग 45 मिलियन उपयोगकर्ताओं तक पहुंच गया था | इस वायरस की वजह से हर सेक्टर में  काफी नुकसान हुआ था | 



3. Slammer worm virus


इस वायरस को SQL slammer worm वायरस के नाम से भी  जाना जाता है | इस वायरस ने शनिवार 25 january 2003 को इंटरनेट को भरी क्षत्ति पहुचाई थी |

 ये Microsoft SQl के संस्करण (edition) में एक Bug के  माध्यम से पुरे इंटरनेट में जंगल की आग  की तरह फ़ैल गया था | यह मन जाता है की ये वायरस 8.02 सेकण्ड्स में खुद  को डबल कर लेता था |

 इस वायरस  ने  कुछ ही मिनटों पुरे विश्व स्तर पर 2,50,000 से अधिक कम्पूटरो में फ़ैल गया था और काफी क्षति पहुंचाई थी | 


4. windows update 

windows update ये कोई विंडोज का अपडेट नहीं है बल्कि ये एक वायरस है जी की आपके कंप्यूटर में एक विंडोज अपडेट की तरह बार बार आता है | क्यों की ये आपके कंप्यूटर में windows update की तरह दीखता है इस लिए इसे windows update virus नाम दिया गया लेकिन इसे Trojan के रूप में पहचाना जाता है dnetc.exe कहा जाता है |


5.Melissa virus 

इस वायरस को Devid lee smith नमक एक व्यक्ति ने 1999 में बनाया था | इस वायरस का नाम Florida के एक मशहूर डांसर के नाम पर रखा गया था |

 Devid lee smith जो की एक programmer था उसने अमेरिका के एक ऑनलाइन account को हैक कर लिया और उसका इस्तेमाल एक alt.sex नाम के एक फाइल को समाचार समूह में पोस्ट करने के लिए किया था |  

इस पोस्ट में लिखा था की आपको दर्जनों 18+ (adult websites ) के password दिए गए है आप इस फाइल को डाउन लोड करो | जब उपोगकर्ताओ ने इसे file को download करके अपने Microsoft word में खोला तो वैसे ही उनके कम्प्यूटर्स में ये वायरस फ़ैल गया था | 

इस वायरस को न तो पैसे और न ही जानकारी चुराने के लिए बनाया गया था लेकिन फिर भी इस वायरस की वजह से सरकारी और निझी कंपनियों को काफी नुकसान हुआ था |

                                     computer virus  के प्रकार 

कंप्यूटर में पाए जाने वाले viruses को मुख्य 7 प्रकारो में बांटा गया है | 


1. Boot sector virus 
Boot sector virus एक ऐसा वायरस है जो  कंप्यूटर के Hard disk के boot sector को संक्रमित करता है | यह वायरस ज्यादातर हटाने योग्य files या media से फैलते है | इस वायरस को कंप्यूटर से हटाना एक जटिल कार्य है इसे कंप्यूटर से हटाने के लिए कंप्यूटर को Format करना पड़ता है | 


 2. Direct action virus
Direct Action Virus कंप्यूटर में फाइल्स को संक्रमित करने का कार्य करता है ये एक प्रकार का फाइल को संक्रमित (infected ) करनेवाला वायरस है | ये वायरस खुद को .exe या .com फाइल्स में खुद को  संग्लन कर के कार्य करता है  और उसके बाद ये कंप्यूटर में अन्य फाइलो को भी संक्रमित  करने का कार्य करता है | इस तरह के वायरस फाइल को मिटा नहीं सकते और इसे Anti-virus से हटाया जा सकता है | 


3. Resident virus 
यह वायरस कंप्यूटर के मेमोरी में ही संग्रहित रहता है जिससे ये अन्य फाइलो को बड़े ही आसानी से संकर्मित करता रहता है लेकिन अब जो फाइल्स संकर्मित होते है वो चल नहीं पते है | कंप्यूटर के मेमोरी में होने की वजह से इसकी पहुंच बहुत अधिक होती है जिससे ये अन्य फाइलो को संकर्मित करने में सक्षम होता है | 


4.Multipartite virus
यह वायरस एक तेजी से बढ़ने वाला वायरस है और यह वायरस कंप्यूटर को संक्रमित (infect ) करने के लिए Boot infactor और File Infector का उपयोग  करता है |

 ज्यादातर वायरस कंप्यूटर के Boot sector system या files को प्रभावित करते है | यह वायरस अन्य वायरसो की तुलना में एक समय में Boot sector or  फाइलो दोनो को हानि पंहुचा सकता है | यह वायरस अन्य वायरसो को तुलना में अधिक नुकसान करता है | 


5. Polymorphic virus 
Polymorphic virus एक बहुत ही जटिल वायरस होता है जो Data types और functions को प्रभित करता है | यह एक Self -encrypted वायरस होता है जिसे scanner से बचने के लिए Designed किया जाता है |

 कंप्यूटर में संक्रमण होने के बाद यह वायरस प्रयोग करने योग्य बनकर खुद को सुशोधित करता है और अपने आप को डबल करते रहता है | 


6. Over wright virus
 यह वीरस एक दुर्भावनापूर्ण (malicious) वायरस है | यह वायरस संक्रमण के बाद कंप्यूटर के original program के code को प्रभावित करता है | यह वायरस वैसे तो काम ही देखने को मिलते है मगर ये वायरस E-मेल के द्वारा फैलते है और इस वायरस को पहचानना एक  आम कंप्यूटर उपयोगकर्ता के लिए मुश्किल कोटा है | इस वायरस को अपने कंप्यूटर से हटाने के लिए आपको आपके संकर्मित ( Infected ) फाइल्स को कंप्यूटर से delete करना होगा तभी यह वायरस आपके कंप्यूटर से जायेगा |   


7. spacefiller virus 
 इस वायरस को वैकल्पिक रूप से एक Cavity-virus के नाम से भी जाना जाता है | यह वायरस एक दुर्लभ (rare type ) का वायरस है | यह वायरस कंप्यूटर में पड़े खली फाइल्स में खुद को भर है | केवल एक फाइल के खली हिस्से का उपयोग करके ये फाइल के साइज को बिना बदले उसे संकर्मित कर देता है जिससे इसका पता लगाना काफी मुश्किल होता है | 

                                     वायरस को कंप्यूटर  से कैसे हटाए ?

 क्या आप इस बात से चिंतित है की कही आपके कंप्यूटर में भी कोई वायरस हो सकता है ? अगर आपके कंप्यूटर में भी वायरस है तो ये एक गंभीर विषय है और इससे छुटकारा पाना सीखना बहुत ही जरुरी है | 

तो अब हम जानेगे की वायरस को कंप्यूटर से कैसे हटाया जाये |
step.1 :-  आप अपने कंप्यूटर में एक Antivirus जरूर इनस्टॉल करे | 
step.2 :- Antivirus से virus को scann करे 
step.3 :- वायरस मिलने पर उसे आप delete करे | 
step.4 :- बिना https:// वाली वेबसाइट का इस्तमाल न करे 
step.5 :- Porn sites (18+) वेब्सीटेस का इस्तमाल न करे 
step.6 :- अपने कंप्यूटर में किसी भी तरह की डिवाइस जैसे Pendrive या phone से connect करने के बाद वायरस को स्कैन जरूर करे और फिर उसे delete करे | 

conclusion
इस लेख में हमने जाना what is computer virus | कंप्यूटर वायरस क्या है और इससे कैसे बचे  मैं ये आशा करता हु की आपको हमारी ये पोस्ट पसंद आई होगी आपको हमारा ये पोस्ट कैसा लगा कृपया Comment में जरूर बताए पोस्ट पूरा पड़ने के लिए 
                                       ***धन्यवाद ***




Post a Comment

0 Comments