सॉफ्टवेयर क्या है ? | what is software in hindi

                         सॉफ्टवेयर क्या है ? 


software-kya-hai

आज के इस पोस्ट में हम जानेगे की सॉफ्टवेयर क्या है और इसके कितने प्रकार होते है |
 सॉफ्टवेयर एक set of program (program का एक समूह) होता है जिसे किसी विशेष कार्य को करने के लिए बनाया जाता है | किसी विशेष कार्य को करने की लिए उस कार्य के अनुसार उसमे निर्देश लिखे जाते है | 

कंप्यूटर जो की एक Hardware है उसे काम में लेन के लिए मानव द्वारा बनाये गए निर्देश देने की विधि को software कहते है |सॉफ्टवेयर को हम छू नहीं सकते है क्यों की वो एक सॉफ्ट form में होता है | 


उदहारण :- आपके पास जो फ़ोन है या कंप्यूटर है वो महज एक खली प्लास्टिक के खिलोने के सामान है जब तक की उसमे सॉफ्टवेयर न डाला जाए मान लीजिये आपके फ़ोन में कैमरा तो है मगर फोटो खींचने के लिए सॉफ्टवेयर नहीं है तो क्या आप फोटा खींच पीएंगे और अगर उसमे सिस्टम सॉफ्टवेयर ना हो तो क्या आप उसे On भी कर पाएं तो सायद आपक अजवाब होगा नहीं क्यों के हार्डवेयर को कंट्रोल करने के लिए या उसे उपयोग में लेन के लिए हमें सॉफ्टवेयर की जरूरत पड़ती है | 
  

                           सॉफ्टवेयर के प्रकार     

सॉफ्टवेयर के मुख्य दो प्रकार होते है | 

1. system software 

system_software

System software  ऐसे programs का समूह होता है जो  कंप्यूटर सिस्टम के अंदर की सभी क्रियाओं को नियंत्रित करता है | ये कंप्यूटर से  जुडी सभी hardwares को पहचानने और उन्हें संचालित करने का कार्य करता है | 

system के तैयार होने पर सबसे पाहे उसमे system software ही डाल जाता है जिसमे ये सब पहले से ही programed होता है की उसे क्या-क्या कार्य करना है | system software user द्वारा दिए गए निर्देश को Binary form में convert करके CPU में process करने का कार्य करता हैा |

उदहारण के तौर पर
जैसे की कंप्यूटर ये कैसे पहचनता हो गा की उसके साथ कौन- कौन सी devices लगी है या कौन सी डिवाइस से उसे  निर्देश दिया  जा  रहा है | जैसे की आप माउस को हिला रहे है तो कंप्यूटर को ये कैसे पता चलेगा की mouse ही हिल रहा है और किस दिशा में हिल रहा है तो ये सब काम System software का करता है | 


System software के भी मुख्य पाँच प्रकार होते है 

1 .BIOS and UEFI
BIOS का पूरा नाम Basic Input Output system है | ये software computer के Motherboard के साथ जुड़ा होता है और ये कंप्यूटर के start होते ही ये भी start हो जाता है | ये हमारे कंप्यूटर के ROM (Read only Memory )स्तिथ  में होती है जो जो कंप्यूटर में सभी Hardware को पहचानने का काम करती है | 


Hardware,System program और अन्य Applications के बिच होने वाले सभी प्रकार के Communication को operating system Control  करती है 

3 .Device drivers
Device driver कंप्यूटर के अलग -अलग हार्डवेयर को operating system के साथ communicate करने में मदद करती है | 


4 .Programming Language Translater
इस प्रोग्राम का कार्य कंप्यूटर में दिए जाने वाले निर्देशों को Binary numbers में ट्रांसलेट करना और Binary numbers को मनुष्य के समझने योग्य भाषा में translate करना होता है | 

5 .Firmware 
firmware एक ऐस system software  है जो किसी भी Hardware के Basic Function perform करने के लिए बनये जाते है  और ये हमेशा Hardware के साथ जुड़े (embded )  रहते है | इस software को किसी भी Hardware के manufacturing के समय ही Install कर दिया जाता है | इसे Hardware के software भी कहते है | 



2. Application software 

aplication_software

 किसी विशेष कार्य को पूरा करने के लिए जिस Software का use किया जाता है उसे  Application software कहते है |

 इस प्रकार के सॉफ्टवेयर की एक सिमा होती है और वह अपने सिमा से बहार कार्य करने में सक्षम नहीं होते है | इस प्रकार के सॉफ्टवेयर में किसी एक ही प्रकार के कार्य को किया जा सकता है जैसे की 


Photo खींचने के लिए - Camera Application का 
लिखने के लिए -Power point या Notepad Application का 
Game खेलने के लिए - Games  Application का  इत्यादि 

इस लिए यह कह सकते है की इस Software को उपयोगकर्ता  (User) को ध्यान में रख कर बनाया जाता है | इसे इसके उपयोगिता के आधार पर दो भागो में बाटा जा सकता है | 

1. General Purpose Application software 

उपयोगकर्ता के द्वारा किये जाने वाले सामान्य प्रकार के कार्य जैसे Data entry करना , letter page इत्यादि त्यार करना और इसी प्रकार Data  management सम्बंधित कार्य इत्यादि करने करने के लिए General Purpose Application Software का इस्तमाल किया जाता है | 
General Purpose Application Software के कुछ उदाहरण है  जैसे 
  • MS-word , page maker (Word processer)
  • Foxpro, Access ,Orecle (Database management system ) 
  • Lotus, MS-Excel (Spreadsheet)
2. Special  Purpose Application software  

ऐसे Software जिन्हे User के विशेष उद्देश्यों की पूर्ति जैसे वित्तय कार्य , उत्पादन , प्रबंधन  इत्यादि के लिए तैयार  किया जाता है उन्हें Special Purpose Application Software कहते है | जैसे : Tally, Kundali इत्यादि | 

conclusion 
सॉफ्टवेयर क्या है ? | what is software in hind हमारी ये जानकारी आपको  कैसी लगी कृपया comment में जरूर बताये और अगर इस पोस्ट से सम्बंधित किसी प्रकार का कोई सवाल या सुझाव हो तो कृपया बताना न भूले | 
                               *** धन्यवाद ***


Post a Comment

0 Comments