RAM और ROM में क्या अंतर है ।What is the Difference between RAM and ROM ?

 दोस्तों अगर आप भी कंप्यूटर का इस्तेमाल  करते है  या फिर अभी आप कंप्यूटर सिख रहे है तो आपने भी RAM और ROM के बारे में जरूर सुना या पढ़ा होगा। इन दोनों को लेके लोगो में काफी confusion रहती है की आखिर ये RAM और ROM क्या है ? और इनमे अंतर क्या है।

तो दोस्तों मैं आपको बता दू की RAM और ROM दोनों ही कंप्यूटर memory है ,कंप्यूटर memory को दो भागो  में बाटा जाता है जिसमेँ से पहले भाग को (Primary memory)प्राथमिक या मुख्य मेमोरी कहा जाता है एवं दूसरे भाग को(Secondary memory) द्वितीयक मेमोरी कहा जाता है। 

तो दोस्तों आज किस पोस्ट को आप पूरा जरूर पढ़े क्योंकि आज के इस पोस्ट को पड़ने के बाद RAM और ROM के Diffarance को लेकर आपके मन में जितने भी Doughts है या आपके मन में जितने भी प्रश्न उठ रहे है वो सभी आज Clear हो जायेंगे तो चलिए शुरू करते है। 

ram-or-rom-me-kya-antar-hai

                       RAM क्या है ? | What is RAM ?

RAM का पूरा नाम Random Access Memory है ,यह एक primary memory है और इसे कंप्यूटर की अस्थाई मेमोरी भी कहा जाता है इसे अस्थाई मेमोरी इस लिए कहा जाता है क्योंकि इसमें stored data तब तक ही सुरक्षित रहता है जब तक की कंप्यूटर on रहता है मतलब की जब तक उसमे power supply होते रहता है। 

इस लिए इसे Volatile या अस्थाई मेमोरी भी कहते है। क्योंकि RAM integrated circuit के रूप में होता है इसलिए इसमें Data electric signals के रूप में होता है जिसे CPU के द्वारा सीधे ही समझ लिया जाता है। जब हम keyboard या अन्य किसी भी Input device से Data input करते है तो वो पहले RAM में ही संग्रहित (stored) होता है 

और बाद में CPU process के लिए RAM से ही access करता है। RAM को कंप्यूटर की मुख्य memory भी कहा क्योकि CPU इसमें स्तिथ data को direct access कर लेता है। इसे temprory मेमोरी भी कहा जाता है क्योंकि इसमें Stored data अस्थाई होती है और जैसे ही कंप्यूटर बंद किया जाता है इसमें stored डाटा समाप्त (delete) हो जाता है।

क्योंकि CPU इसके डाटा को direct access करता है इसलिए  यह तीव्र गति से कार्य करता है | RAM की क्षमता निम्न होती है जिसे आप आपने कार्य के अनुसार अपने कंप्यूटर में लगा सकते है : 32mb,64mb,128mb,512mb,1Gb,2Gb,4Gb,8Gb,,16Gb,32Gb,64Gb or 1Tb आपके कंप्यूटर का RAM जितना अधिक होगा आपका कंप्यूटर भी उतनी ही तेजी कार्य करेगा। 

                         ROM क्या है ? | what is ROM ?

ROM का पूरा नाम Read Only Memory है यह कंप्यूटर की स्थाई मेमोरी होती है जिसमे कंप्यूटर के निर्णाम के समय program को store कर दिया जाता है। इस मेमोरी में संगृहीत प्रोग्राम को नष्ट नहीं किया जा सकता है,लेकिन कुछ विशेष प्रक्रियाओं का इस्तेमाल करके इसके डाटा को मिटाया जा सकता है। 

BIOS (Basic input output)ROM का एक उदहारण है जिसे कंप्यूटर निर्माताओं द्वारा बनाया जाता है और जिसमे program को पहले से ही store कर दिया जाता है। यह conductor chip के रूप में Motherboard में होता है। ROM भी कई प्रकार के होते है। 

Types of ROM | ROM के प्रकार :

  ROM के मुख्य पाँच प्रकार होते जो निम्न प्रकार से है। 
  1. Mask ROM :- यह आधारभूत ROM Chip होता है ,इसमें कंप्यूटर के निर्माण के data store कर दिया जाता है। जिसके कारण इसे न तो मिटाया जा सकता है और न ही बदला जा सकता है। 
  2. PROM :-इसका पूरा नाम Programable read only memory है। इस प्रकार के मेमोरी में डाटा को store प्रोग्राम के निर्माण के समय ही कर दिया जाता है ,इसके बाद न तो इसे बदला जा सकता है और न ही मिटाया जा सकता है।
  3. EPROM :-इसका पूरा नाम Eraseable program Read Only memory है। यह भी PROM के समान ही होता है लेकिन इसमें stored data को ultraviolet किरणों के माध्यम से मिटाया जा सकता है। 
  4. EEPROM :-इसका पूरा नाम Electrically Eraseable Programable Read Only Memory है। यह भी  EPROM की तरह होता है और इसमें stored data उच्च विधुत प्रवाह के माध्यम से मिटाया जा सकता है। 
  5. EAPROM :-इसका पूरा नाम Electrically Alterable Eraseable Programmable Read Only Memory है, और इसमें संग्रहित डाटा को मिटाया जा सकता है। ]

Difference Between  RAM and ROM | RAM और ROM में अंतर 

                          RAM                                                                 ROM 

RAM एक अस्थिर मेमोरी है जो की डेटा को  तब तक स्टोर कर सकती है जब तक की  उसे Power supply मिलती रहे। 

 ROM एक स्थाई मेमोरी है जो बिजली बंद होने पर भी डेटा को बनाए रख सकता है।

 RAM  में संग्रहीत डेटा को पुनः प्राप्त और परिवर्तित किया जा सकता है। 

 ROM में संग्रहित डेटा को केवल पढ़ा जा सकता है।इसे न तो मिटाया जा सकता है और न ही इसमें बदलाव किये जा सकते है। 

 वर्तमान में CPU द्वारा अस्थायी रूप से Process किए जाने वाले डेटा को store करने के लिए RAM का उपयोग किया जाता है।

 यह कंप्यूटर के Bootstrap  के दौरान आवश्यक निर्देशों को store करता है।

 ROM के मुकाबले इसकी उच्च क्षमता होती है और यह आकार में भी बड़ा होता है

 यह कम क्षमता वाला होता है और आकर में भी  छोटा होता है। 

 CPU इस पर Stored data  तक पहुंच सकता है।

 जब तक RAM में data store  नहीं किया जाता तब तक CPU उस पर stored data  तक नहीं पहुँच सकता।

इसमें stored data easily accessiable होती  है। 

 ROM में Stored data को आसानी से access नहीं किया ता सकता है। 

 RAM महंगे होते है।  

 ROM सस्ते होते है RAM के मुकाबले। 

 RAM आकार में आयत (Rectangle )रूप में होते है और इसे कंप्यूटर के मदरबोर्ड पर डाला जाता है।

ROM Read Only Memory एक प्रकार का स्टोरेज माध्यम है जो personal computer (PC) और अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों पर स्थायी रूप से डेटा store करता है।

 इसका पूरा नाम Random Access Memory है और यह एक Primary memory है 

इसका  का पूरा नाम Read Only Memory है और .यह एक Secondary memory है 

 
Coclusion:
दोस्तों मैं आशा करता हू की आपको हमारी पोस्ट RAM और ROM में क्या अंतर  है ।What is the Difference between RAM and ROM ? में दी गई जानकारी पसंद आई होगी  पोस्ट में हमने RAM और ROM में अंतर  
से सम्बंधित सभी जरुरी जानकारियों को देने का प्रयास किया है अगर फिर भी आपको लगता है की हमारे इस पोस्ट में कुछ भी कमी है तो आप हमें जरूर बताये और आपको हमारा ये पोस्ट कैसा लगा कृपया कमेंट में जरूर बताये। 

Post a Comment

0 Comments