what is Topology in hindi | Topology क्या है

what is Topology in hindi | Topology क्या है ?

दो या दो  से अधिक computers को आपस में जोड़ने की आकृति को टोपोलॉजी कहा जाता है। टोपोलॉजी दो प्रकार  होती है, भौतिक (physical) और तार्किक (logical) |  logical topology के द्वारा हम network के उपकरणों को किस उपयोग करना है  निर्धारण करते है ,जबकि physical topology को computer cabels एवं अन्य network device को आपस में जोड़ने के लिए किया जाता है। 


What is network Topology ? | नेटवर्क टोपोलॉजी क्या है ?

Network में एक node को दूसरे node से connect रखने के method को network topology कहते है। किसी भी networking में ये मुख्य components होते है और networking की लागत network पर निर्भर करता है। Network में विभिन्न प्रकार के topologies का इस्तेमाल किया जाता है। इस प्रकार  नेटवर्क में किसी भी एक node में दूसरे किसी भी node को  यादृच्छिक तरीके (random way ) से लिंक किया जाता है। 


वास्तविक जीवन  इस प्रकार के नेटवर्क का इस्तेमाल बिलकुल भी नहीं किया जाता इसे निचे दिए गए चित्र से समझा जा सकता है। 

Common topologies:

 कुछ सामान्यतः उपयोग होने वाले topologies निम्न है :

1)Mesh Topology :इस network में प्रतियेक node को दूसरे सभी node के साथ जोड़ा जाता है।  तब इस प्रकार के network को fully connected network कहा जाता है। नीचे चित्र में आप एक fully connected network देख सकते है। निचे चित्र से आप मेष टोपोलॉजी को समझ सकते है। 
mesh-topology

Advantages of fully connected network | मेष टोपोलॉजी लाभ 

इस प्रकार की  नेटववर्क बहुत विश्वासंनिया  होते है।, क्यूंकि प्रत्येक node एक द्दूसरे  से जुड़े होते है किसी दो node की बिच connection के ख़राब होने की स्थिति भी डाटा किसी दूसरे रस्ते से transfer  होने लगता  है। जिसका लाभ यह है की नेटवर्क  बिच संचार व्यवस्था पहले की बना रहता है। 

Disadvantages of Mesh topology | मेष टोपोलोजी के हानी 

  • यह बहुत ही खर्चीला नेटवर्क होता है क्यूंकि इसमें प्रतियेक device को प्रतियेक device से जोड़ने के लिए n(n-1)/2 links की आवश्यकता होती है और प्रतियेक node के पास यह अवश्यक है की  प्रतियेक लिंक के लिए (n-1)interface हो। इसमें एक नए node को जोड़ने के लिए (n-1) नए लिंक को install करना होता है। 
  • इसमें किसी नए node को जोड़ना कठिन होता है। क्यूंकि इसके प्रतियेक node से connect रखना होता है। और इससे communication cost भी बढ़ता है इस प्रकार के कनेक्शन का इस्तेमाल किसी विशेष परिस्थित में ही किया जाता है। 
2)Star topology :-इस प्रकार के नेटवर्क में एक special node से जारी सभी nodes को लिंक किया जाता है। control node या hub node के द्वारा किसी information को दूसरे node में भेजा जाता है। नीचे चित्र से आप star topology को समझ सकते है। 
star-topology


Advantages of star topology | Star topology के लाभ 

  • इसमें किसी नए node से connection करना आसान होता है। क्यूंकि किसी भी नए node को सिर्फ control node से जोड़ना  होता है । 
  • इसमें डाटा transmission देर से होती है , क्यूंकि किसी डाटा को ट्रांसफर करते समय दो लिंक की आवश्यकता होती है। 

Disadvantages of Star Topology | स्टार टोपोलॉजी के नुक्सान 

  • इसका मुख्य Disadvantage यह है की control node के fail होने से  network कार्य करना बंद कर देता है। 
  • इस प्रकार के नेटवर्क की क्षमता central computer के उप्पर निरबह्र करता है। 
3) Bus topology : बस टोपोलॉजी का उपयोग local area network में किया जाता है। इस प्रकार के topology में एक सिग्नल नेटवर्क केबल का  है। जिससे  बिल्डिंग या कैंपस के चारो तरफ  है और सभी node को इस cable से connect किया जाता है। इस प्रकार के common बस का उपयोग 20 किलोमीटर तक के दुरी  cover करने के लिए किया जाता है। 

और इसकी operation rate 10 mbps तक होती है। निचे दिए गए चित्र से आप bus topology  समझ सकते है। 
Bus-topology

Advantages of Bus topology |  Bus topology के लाभ 
  • इस topology का मुख्य advantage यह होता है की इसमें physical line कम होता है।जिससे दुसरो की तुलना में इसका लगत सबसे कम होता है। 
  • यह network अधिक विश्वनीय होता है ,क्यूंकि किसी एक नेटवर्क के fail होने की स्थिति में भी network कार्य करता रहता है। और दूसरे node पर कोई प्रभाव नहीं  होता 
  • इस  प्रकार के network में किसी नए node को जोड़ना आसान होता है। 

Disadvantages of Bus topology | Bus topology के नुकसान 

  • Bus topology में connect किये जाने वाले सभी systems  पास good communication और desicion making क्षमता होनी चाहिए ,अन्यथा इनके बिच communication बंद हो जायेगा। 
4) Ring Topology : Ring Topology का उपयोग local area network में किया  जाता है। इस प्रकार के  topology  सभी connection से जुड़े रहते है। इस प्रकार के नेटवर्क में data transmission की दर 1 Mbps  10 Mbps होती  है। यह topology network में सभी nodes Ring की आकार में एक दूसरे से जुड़े होते है होते है। 

निचे दिए चित्र से आप Ring topology को समझ  सकते है। 
ring-topology


Advantages of Ring topology | Ring  topology के लाभ 
  • Ring Topology में किसी Control Computer को आव्सय्कता नहीं होती है। यह पूरी तरह Distributed data processing के सिद्धांत पर कर करता है। 
  • यह network star topology की अपेक्षा अधिक विश्वनीय होता है। क्यूंकि इसमें host computer नहीं होता है और node के fail होने से alternative,network से computer में कार्य करता है। 

Disadvantages of Ring  topology | Ring  topology के नुकसान 

  • Ring network में जितने node  की संख्या अधिक होती है। communication में उतना ही  अधिक समय  लगता है और इसमें जितने भी nodes जुड़ेते जाते है communication में उतना ही delay बढ़ता जाता है। 
  • Ring network star network तरह प्रसिद्ध नहीं है क्यूंकि  इस network में जटिल control software की आवश्यकता होती है। 
5) Tree Topology : जब नई bus network को असमान्य रूप से बढ़ाया जाता है तब एक नए प्रकार के topology का उदय  होता है। जिसे tree topology कहा जाता है। इस network में एक root node होता ही है। इसमें एक level से प्रतियेक दूसरे level node के बिच point to point लिंक होता है। 

Tree-topology

इस  प्रकर ककी topology में trasmission माध्यम Branching Buus closed loop   होती है। ओर tree की प्रतियेक  ब्रांच को जोड़ने  के लिए repeaters और brridges का  उपयोग किया जाता है। 

Advantage 

  • क्यूंकि इसमें  network अलग -अलग level में होते है। इस लिए इससे manage करना आसान होता  है। 
  • इसमें device point to point connect होते है। 
Disadvantage 
  • इसे  काफी बड़े नेटवर्क में इस्तेमाल  किया जाता है इस लिए  इसका रख राखव क़ाफी खर्चीला होता है। 

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां